• aarushi_bagri 14w

    जो प्यार किसी और से पाने की उम्मीद रखते हो,
    वो प्यार बेइंतहां तुम्हारी माँ तुम पर लुटाती है।
    जो जान तुम किसी और पर लुटाते हो,
    वो जान बेइंतहां तुमहारी माँ तुम पर छिड़कती है।

    ©aarushi_bagri