• 18hardikjain 16w

    टहलते, मचलते, बिलखते, ठहरे हुए, बदहवास से, अवारा
    ना जाने कितने ख्यालों के बादल हमारे मन के मौसम में घूम रहे हैं।

    हार्दिक