• khayalo_ki__kalam_se 5w

    बात उन दिनों की हैं जब हम मैट्रिक परीक्षा देकर कोटा में आई. आई. टी. की तैयारी करने गए, जब तक आई. आई. टी. का पूरा नाम भी नही पता था, और ना यह पता था कि यह होता क्या हैं, बस चल दिये भेड़ चाल में, आज तक यही सुना था एक बार आई. आई. टी. से इंजीनियरिंग कर लो, जिंदगी बन जाती हैं। बस यही सोचकर चल दिये हम भी ।
                          
     दिन का समय, आज हमारी कोचिंग का पहला दिन, मैं बहुत खुश था, लगा मेरा सपना अब सच होने वाला हैं, मैं मेरे लक्ष्य को पूरा करने के लिए पूरी जी-जान से मेहनत करूँगा , सब कुछ ठीक चल रहा था, जैसे ही मैं पहले दिन कोचिंग पहुँचा , मुझे याद हमारी पहली क्लास गणित की थी, मुझे लगा मजे आने वाला हैं, अब कुछ लोग लड़कियों के पीछे वाली कतार में बेठने के लिए लड़ रहे थे, तभी हमारे सर वहाँ पहुँचे और उनको देखकर वो बोले आज मैं इन्ही की वजह से यहाँ पर हूँ, नही तो मैंने भी आई. आई. टी. से इंजीनियरिंग की होती, यह बात सुनकर मैंने सोच लिया कि इन लड़कियो के चक्कर में नही पड़ना हैं।

    Baki Comment main pde������

    Read More

    "पहली मुलाकात"

    प्रथम भाग
    ©khayalo_ki__kalam_se
    Read caption