• vip_shayari 38w

    तुझमें तो कोई कमी ही नही
    यानी तुम जमीं की नही
    क्यों करती हो श्रृंगार
    तुमसे खूबसूरत कोई बनी ही नही
    "विपुल कुमार मिश्र"
    ©vip_shayari