• mahtobpensdown 5w

    तेरी यादें

    दिल छू जाती है तेरी यादें।
    जो छोड़ गई मुझे तोड़ कर सारे वादे।।

    लाख कोशिशों की तुझे भुलाने की।
    पर काम न आये मेरे नेक इरादे।।

    अरसा बीत गया अब तुझे देखे हुए ।
    फिर भी पल पल सताती है तेरी यादें।।

    इन यादों के सहारे ही मुस्करा लेता हूँ।
    बस लफ़्ज़ों में ही खुद का दर्द कहता हूं।।

    तु नहीं जानती मेरी कलम कितना रोती हैं।
    पर उससे निकला हर अश्क आज एक मोती हैं।।

    ©mfdart and ©mahtobpensdown