• pandey_ankush 2w

    @writersnetwork #तुमने

    Read More

    तुमने।

    देखता था मै हर किसी को अपने अलग नजरिये से,
    तुमने अपनी निगाहों से मेरा नजरिया बदल दिया,

    बोलता था यूं हर गली में बेबाकी से,
    तुमने अपने हरफो से मेरे लफ़्ज़ों को निखार दिया,

    यूं तो होंगी कई हसीनाएं दुनिया में,
    तुमने अपनी अदा से मेरी चाहतों को बढ़ा दिया,

    मुस्कुराता तो हर कोई है इस जहां में,
    तुमने अपनी मुस्कुराहट से मेरे लबों को हसना सिखा दिया,

    मेरी ख्वाहिश थी जिस मंज़िल को पाने की,
    तुमने उस मंज़िल को मेरा मुकाम बना दिया,

    जिंदा तो था मै काफी लंबे अरसे से,
    तुमने अपनी सांसो से मुझे जीना सिखा दिया,

    यूं तो कई लोग मिलते हैं इस दुनिया में,
    तुमने मुझे इंसानियत का नया माईना सिखा दिया,

    दुनियावी-दस्तूर के बारे में क्या कहूं,
    एक तुमने ही तो मुझे जीने के सही मायनों से रूबरू करा दिया।


    ©pandey_ankush