• chiragvarshney 5w

    ठहर कर सूरज देखता ही नहीं,
    रोज शाम संवरती है उसके लिए ।

    @Shayari_vaji
    @Chirag