• shubhhh 1w

    ज़िन्दगी ने ज़िन्दगी भर गम दिए,
    जितने भी मौसम दिए सब नम दिए,
    इक अज़ब सी कशमकश है जिंदगी,
    जिसने की हमसे न कभी भी दोस्ती।।