• greenhornpoet 3w

    फिर वो नई ईद
    फिर नई दीवाली होंगी,
    हर साल की तरह इस बार भी
    कही खुशी की हरियाली होंगी।