• an_wesha 5w

    •किस्मत•

    कभी खुशी देखी नहीं मेरी
    कितने सितम सहे
    एक
    मुस्कुराहट के लिए तेरी
    एकबार पलटके ज़िंदगी देखले मेरी।

    ©an_wesha