• himanish_dhanesha 53w

    बेबसी

    इन आखो को नहि था आपके अलावा कोइ अज़ीज़
    पर ठुकराया आपने और नहीं रहने दिया अपने करीब

    हम तो जी लिए आपकी यादो के संग ऐ हमनशी
    छोड़ा था आपने हमें जिस मजधार में वहा थी सिर्फ बेबसी .....!

    सजदे में ये सर जुकता तो सिर्फ आपके लिए
    मंदिर में हाथ जुड़ते तो सिर्फ आपके लिए
    दिल में खयाल रहता तो सिर्फ आपका
    जेहन में यादें रहती तो सिर्फ आपकी ..!

    आपसे खफा रहना हमें ना कभी मंज़ूर था और ना ही होगा ,
    क्योकि इस दिल ने अगर किसीको शिद्दत से चाहा हे तो सिर्फ आपको ...!

    हम तो जी लिए आपकी यादो के संग ऐ हमनशी
    छोड़ा था आपने हमें जिस मजधार में वहा थी सिर्फ बेबसी .....!

    ©himanish_dhanesha