• sanjaytripathi_ 5w

    जब भी इसे कोई संगीत सुनना था
    दिल ने हर बार तेरा पायल चूमा था,
    जब भी इसे कोई आभूषण चुनना था
    इसने हर बार तेरा कंगन चूमा था,
    जब भी इसे कही कोई रंग मलना था
    हर बार तेरे हाथों की मेहंदी चूमा था,
    जब भी इसे कोई श्रृंगार चुनना था
    हर बार तेरे माथे की बिंदी चूमा था..
    ©sanjaytripathi_