• happysoul45 22w

    अपनी तक़दीर में तो कुछ ऐसा ही सिलसिला लिखा है,
    किसी ने वक़्त गुजारने के लिए अपना बनाया,
    तो किसी ने अपना बना कर वक़्त गुज़ार लिया……..