• kavish_kumar 9w

    मायने मोहब्बत के कोई समझाये मुझको।
    ये कौनसी दुनिया है कोई दिखलाए मुझको।।
    दर्द बहुत होता है इस राह मे सुना है मैंने।
    ख़ुशी किस कदर होती है कोई बतलाए मुझको।।
    ✍Ahmed @poet_next_door

    कोई प्यार भरी चार बातें खुशी से सुनाए मुझको,
    प्यार से वो कभी आकर गले लगाए मुझको..
    मैं कुछ गलत बोलूं तो वो झुझंलाए मुझसे,
    बड़ी ही नरमी से अपना कभी बनाए मुझको...
    ✍ Aatish