• vasu78s 14w

    प्यार तो नहीं, पर तुझे बहुत सोचता हूँ मैं,
    आँख खुलते ही, बस तुझे ही खोजता हूँ मैं,
    हंसी तेरी देख के, दिल को सुकून सा आ जाता है,
    नूर आँखों का देख के, एक जूनून सा छा जाता है,
    प्यार तो पता नहीं, पर तुझे बहुत सोचता हूँ मैं ..
    कभी मिलोगे, तो कुछ न कह पाऊंगा मैं,
    तुम्हारी अदाओं से खुद को बहलाऊंगा मैं,
    हाथोँ से, जुल्फ़ें तुम्हारी सहलाऊंगा मैं,
    प्यार तो नहीं....अब यह झूठ और न बोल पाऊंगा मैं!
    ..........यह झूठ और न बोल पाऊंगा मैं!
    ©vasu78s