• payal_anant 5w

    तुम

    मेरे मन के अंधियारों में
    तुम नये उजाले करते हो

    मैं जब जब जीवन से हारी
    तुम ताकत मेरी बनते हो

    तुमने सतरंगी रंगों को
    मेरी दुनिया का पता दिया

    मेरे सोए से सपनों को
    तुमने फिर से जगा दिया

    मेरी बेसुध सी उम्मीदों में
    तुम नया उत्साह भरते हो

    इस बेमानी सी दुनिया में
    एक 'तुम' ही सच्चे लगते हो.. !!
    ~पायल अनंत
    ©payal_anant