• adhure_lafj 5w

    ★पतझड़★

    नहीं अंदेशा, दरख्तों को कोई,
    पत्तों के पिला पड़ जानें का,

    और पत्तों को भी इल्म नहीं,
    अगले पल जुदा हो जानें का।

    ©adhure_lafj