• vision_creation_of_rsp 6w

    ख्वाबो कि कशिश है,वह तो ख्वाबो में ही टूटेगी।
    जब होगी ईनायत खुदा की तो वह बेरुखी में भी जुटेगी।

    Khwabo ki kasish hai,wah to khwab main hi tootegi.
    Jab hogi inayat khuda ki to way berukhi main bhi jootegi.

    ©vision_creation_of_rsp