• sheetu_writes 24w

    You can never repay what your parents have done for you, but you must try.....
    #ilovemyparents #lekhak

    Read More

    आज एक फूल टूट पोधे से गुलदस्ते में सजने को चला
    सजने तो चला, पर बुरा भला, अपने मां बाप को कहता चला
    उठा बस्ता, तोड़ नाते, वो अपने रोब में चल तो दिया
    पर भूल गया उसका बचपन किस गोद में है नाजों से पला

    कभी लोरी से, कभी दे थपकी, कभी डांट डपटकर सुला दिया
    कभी लगा फटकार रुला दिया, फिर उठा गोद में झुला दिया
    जिस आंचल, गोद, लोरी के बिन नींद नहीं उसे आती थी
    उस आंचल को, उस लोरी को, उस मां को उसने भुला दिया

    कर मेहनत, काट पेट अपना, उसे जिसने भरपेट खिलाया था
    अपने सपनों में खुद बन नौकर, राजा उसे बनाया था
    उस पिता को, उसके सपनों को, उस प्यार को वो है भुला चुका
    जिस पिता ने अपने शौक भुला उसे सर आंखों पे बिठाया था

    वो नींद तो है, वो गोद नहीं जहां चैन की नींद वो सोता था
    वो आसूं हैं, वो कंधा नहीं जहां सर रख कर वो रोता था
    समझ नहीं पाया कि उनके चरणों में वो शोहरत थी
    हर रात मूंद कर आंखों को जिसके सपने वो संजोता था
    ©sheetu_writes