• kritikasrivastava 7w

    "मजबूरी है साहब
    मुसकुराना पड़ता है"
    #my_kind_of_peace #Mirakee
    @writersnetwork @mirakee @mirakeeworld @asmakhan @tomorrow_is_amazing @alchemic_faerie

    Read More

    ।। मजबूरी ।।

    मजबूरी है साहब ...
    मुसकुराना पड़ता है ...
    जमाने के सवालो से खुद को बचाना पड़ता है,
    जब सारा दिन की कशमकश से लड़ के शाम को घर लौटो,
    और घर वाले उत्सुकता से पूछे कि दिन कैसा रहा ?
    तो सब ठीक रहा ऐसा बताना पड़ता है,

    कभी कोई दोस्त अचानक से जब पूछ बैठे कि क्या हुआ ?
    अब तुम पहले से नही रहे,
    तो वक्त का तकाजा समझाना पड़ता है,

    माँ टोक दे अगर सुबह कभी आँखो की लाली,
    तो नींद न पूरी होने का बहाना बनाना पड़ता है,

    कभी-कभी जब अपना मन हजार सवाल पूछने लगे,
    जिन्दगी की डोर जब उलझती ही जाये,
    एक दिन सब ठीक हो जाएगा,
    ऐसा कह कर इस दिल को बहलाना पड़ता है,
    जमाने को कैसे समझाये और क्या समझाये" हाल-ए- जिंदगी",
    बस इस लिए चहरे पर एक झूठी मुसकान को सजाना पड़ता है,

    मजबूरी है साहब, मुसकुराना पड़ता है ... ।।

    ©kritikasrivastava