• abhishekmanukumar 6w

    बाजार ए इश़्क में शायरी बदनाम ना हो जाये
    चलो यहाँ से चले
    कहीं यहाँ आराम ना हो जाये