• rishabhsavita11 15w

    बाउंड्रीज

    कर के इश्क़ हमने अपने सब्र को पहचाना है,
    उनने न हमको याद किया, न हमने उनको भूला है,
    उनने हमको अपने से रुसवा किया,
    पर हमने उनको दिल से लगया है,
    कर के इश्क़ हमने अपने सब्र को पहचाना है,
    ©rishabhsavita11