• dastkhat 22w

    ठीक है ??

    तो तुम अब हमसे मिलना नहीं चाहोगे।
    चलो ये भी ठीक है।
    तो तुम अब से वो प्यार भी झुठलाओगे।
    चलो ये भी ठीक है।

    तो अब तुम्हे मेरी जुल्फें,
    घटा सी नहीं लगेगी।
    लेकिन क्या इनकी खुशबू, भूल पाओगे।
    चलो ये भी ठीक है।

    तो अब मेरी आंखें किसी,
    झील से ना मिलेंगी।
    किसी और झील में भी डूबना चाहोगे,
    चलो ये भी ठीक है।

    लेकिन याद रखना,
    तुम्हारे इंतजार में वक्त जाया करूंगी।
    अपनी जुल्फें यूं ही महकाया करूंगी।
    मेरी आंखे बहने लगेंगी।
    क्या ये भी ठीक है ?
    ©dastkhat