• bholenath 6w

    Dost

    मैं गया था सोचकर....
    बातें बचपन की होगी,

    दोस्त मुझे अपनी..
    तरक्की सुनाने लगे...
    ©bholenath