• payal_anant 7w

    प्रेम अपना अतुल्य है,साथ अनंत है हमारा
    प्रीत सच्ची है अपनी
    जैसे सूरज, चाँद, सितारा
    अपूर्ण होकर भी पूर्ण हैं हम
    तुम कान्हा हो मेरे
    मैं तुम्हारी राधा..।

    ☘पायल अनंत
    ©payal_anant