• beauty_in_veins 5w

    Aisi majboori hai maut jisme man ko tan ki kafas mile
    Bhook jab badhti hai tan ki toh dar lagta h logo se ...
    ____________________________________________________

    कोई मसला नहीं है मुझे इस जमाने में
    फ़क़त बुल-हवसों की नजरें सितम के वहशत से ।

    ऐसी मजबूरी है मौत जिसमें मन को तन की क़फ़स मिले ,
    यहाँ भूख जब बढ़ती है तन की , डर लगता है लोगों से ।।

    ©beauty_in_veins

    Here .:-
    फ़क़त - only
    वहशत - fear
    बुल-हवसों - very greedy /avaricious
    क़फ़स - cage

    #hindiwriters @hindiwriters @hindikavyasangam @panchdoot

    Read More

    ...

    ऐसी मजबूरी है मौत जिसमें मन को तन की क़फ़स मिले ,

    यहाँ भूख जब बढ़ती है तन की , डर लगता है लोगों से ।।

    ©beauty_in_veins