• vipin_bahar 5w

    दगाबाज चाहत...

    तेरा चेहरा लोगो ने देख लिया ,मेरे मरने के बाद,
    क्योंकि दिल बच गया था,लाश जलने के बाद,
    तुझे तेरी शादी तय होने की खबर ,मुझे इंतला करनी चाहिए थी,
    मुझे खबर तो मिली ,पर तेरी मेहँदी चढ़ने के बाद,
    तुम तो मेरे प्यार में कुछ भी करने के लिए तैयार थी,
    सोचता हूँ तुम कैसा महसूस कर रही होगी,ये दिल तोड़ने के बाद,
    मै तो छुप-छुप के बर्बाद होती हुई खुद की मोहब्बत को देख रहा था,
    सच मैं तुम तो बहुत हसींन लग रही थी ,लाल जोड़ा पहनने के बाद,
    मैंने तो आकाश से ही पत्थर(ओला)बरसते हुए देखा था,
    पर इन आँखो से भी गिरे पत्थर,अश्क छलकने के बाद,
    तुम तो मेरी हर छोटी से छोटी चीज से भी प्यार करती थी,
    सीने से लगा लेती थी,मेरा ख़त पढ़ने के बाद,
    तुमसे तो मैं अपना हर दर्द बाटता था,तुम्हे तो पता ही है,
    पर तुम्हे थोड़ी भी दया नहीं आयीं,मुझे छोड़ने के बाद,
    ये प्यार -वार हमारे वश का नहीं ,सच कह रहा हूँ,
    ये दिल अब कभी नहीं जुड़ पायेगा ,टूटने के बाद,
    अब तो तेरे दर्द मै ही जी जिंदगी गुजार देगा ये "विपिन"
    पन्नें भीग जाते है ,गजल लिखने के बाद-------
    विपिन"बहार"
    ©
    ©vipin_bahar