• nehakanksha 5w

    बेरुखी

    परवाह करते हो तो जताते क्यों नही?
    याद आती है हमारी तो बताते क्यों नही?
    माना मजबूर होकर दुरी हमने बनाई,
    मगर ऐसा नही है,की तुम हमको सताते नही!
    ©nehakanksha