• gatisheel_sadhak_bihari 5w

    पता न कितनों के हाथों सच का वध होता है,
    तब भी क्यों सच के हाथों में न गुलाब कम होता है!

    ©gatisheel_sadhak_bihari