• spiritual_soul 2w

    मोहब्बत

    मुझे मोहब्बत सिर्फ़ तुमसे नहीं..
    तुम्हारे ख़यालों से है,
    तुम्हारे जज़्बातों से है,
    तुम्हारे होठों से निकले हर अल्फाज़ से है,
    तुम्हारे हर अंदाज़ में खुद को पाती हूँ,
    आख़िर तुम्हारी ही रूह का हिस्सा हूँ मैं।
    ©spiritual_soul