• dhai_akshar_ 6w

    चुभता तो बहुत कुछ मुझको भी है तीर की तरह ,

    मगर खामोश रहता हूँ, अपनी तकदीर की तरह....।


    ©dhai_akshar_