• nameisr 13w

    इल्ज़ाम

    मुझपे इल्ज़ाम है तुझे चाहने का
    अग़र ऐसा है तो गोली मार देनी चाइये
    तुम्हारी इन दो आँखों को भी
    न ये रहेंगी न कोई गुनाह करेगा फ़िर से

    © रवि