• anuj_artist 5w

    शायरी

    Read More

    मेरी फ़ितरत से सारा जहां ख़फा है
    तू अगर साथ है तो फिर ग़म किस बात का
    ©anujartist