• kartikji 6w

    नाकामयाबी की आग में यू जल रहा हूँ
    अपनों से बदसलूकी हर रोज़ क्र रहा हूँ
    नफरत करने लगी है मेरी रूह अब खुद से
    में कामयाबी को अब कुछ यु कोश रहा हूँ
    ©kartikji