• hamsafarkizindagi 6w

    दर्द

    जिस्मों से मोहब्बत करने वाले क्या समझेंगे जुल्फों से खेलने वालों के मोहब्बत का दर्द,जिन्होंने बिस्तर पे पड़ी सिलवटों को मोहब्बत समझा वो क्या समझेंगे दिल में पड़ी सिलवटों का दर्द,जिन्होंने जिस्मों की दूरी को हिज्र के पल समझा वो क्या समझेंगे रूह के बिछड़ने का दर्द।
    ©hamsafarkizindagi