• ritbikstagram 6w

    हम वो भावनाओं के बादल हैं जो स्याही बन कर बरसते हैं और इस कागज़ की जमीन पर सूकून की हरियाली दे जाते हैं।
    ©ritbikstagram