• aashishbhardwaj 5w

    गलत

    बड़ी खूबसूरती से अपने
    गंदे हाथ साफ कर दिये ।

    उसने मेरे लिबास पे ।
    और फिर इतरा उठी ।

    कि बड़े बेआबरू हो तुम ।
    भरोसा किया था मैंने कि घोड़ा ।

    बेईमान नहीं होगा उस ।
    हरी घास पे ।

    साबित करती गई वो मुझे ।
    ही गलत । हर उसकी ।

    गलत बात पे ।

    ©aashishbhardwaj