• mogambo 23w

    एक अकेली छत्री में जब आधे आधे भीग रहे थे
    आधे सूखे, आधे गीले,
    सूखा तो मैं ले आई थी गीला मन शायद बिस्तर के पास पडा हो
    वो भिजवा दो, मेरा वो सामान लौटा दो