• the_ank 23w

    "ईश्क़ की जुबां"

    मेरी नज़रों में छुपे इश्क़ को पढ़ पाओ तो क्या बात,
    मेरे होंठो पे लिखे नज़्म को पढ़ पाओ तो क्या बात,
    ये तो जज्बातो और एहसासों का खेल है जनाब,
    इश्क़ को इश्क़ की जुबाँ से पढ़ पाओ तो क्या बात।
    ©poet_ankita