• _lifestuffs_ 6w

    मैं इबादत के फूल बरसाता रहा,
    वो कांटो से भरी सौगात बिछाता रहा,
    मैं वक़्त -बेवक़्त उसके लिए दिल धड़काता रहा,
    वो गैरों को अपनी बाहों में सुलाता रहा....
    ©_shru