• fantasy_invader 34w

    पहाड़ों के बीच में ❤

    @hindiwriters
    @hindikavyasangam

    Read More

    इन वादियों में मेरा अस्तित्व है
    या मेरा कोई अंश इसका तत्त्व है।
    ऊँचाईयों से ही तो जन्नत का एहसास है
    सादे जीवन में कुछ नहीं खास है ।
    चलो न मेरे साथ उन पहाड़ों को फ़तह करते हैं
    या यूँ हि किसी मोड़ पर अपनी तन्हाईयों से बातें करते हैं ।

    ©fantasy_invader