• piyushjain 5w

    मेरा घर..

    मेरे दिल मे हर बार मुझे भी एक याद सताती है
    में घर से दूर हु शायद मुझे यह याद दिलाती है
    रह रहा हु यहा में घुट कर मेरे दिल के अंदर ही
    मेरे घर की दीवार मुझे रोज आवाज लगाती है
    बेचैनियां है जहन में मेरे,बाहर जमाने मे रहकर
    मेरे घर मे मेरी यादे,मेरी बाते रोज खिलखिलाती है
    मचल जाता है भावुक मन मेरा भी कभी कभी
    मेरे घर की सारी यादे जब मेरा ही दिल जलाती है
    चाहता नही हु में कभी दूर रहना यहा मेरे घर से
    पर मेरे जीवन की मजबूरियां मुझसे करतब कराती है ...
    ©piyushjain