• anjalianand 15w

    ना कोई एहसास हैं , ना कोई साँस है....
    तेरे बिना अधूरे अधूरे से मेरे हर जस्बात है.... है हरदम जो नज़रों के सामने , उससे ना कोई आस है....
    मेरी इन नज़रों को तो अब बस तेरी ही तलाश है....

    - अंजलीआनंद