• _kirti 6w

    बिल्कुल हवा सी थी वो
    सरफिरी सी हवा जो बहती थी
    किसी की हर पल तड़पती साँस के लिए
    तो किसी की अधूरी सी आस के लिए
    मैं शायद महसूर कर रहा था उसे
    जिंदा रख रहा था या मार रहा था उसे
    प्यार में तड़पना भी होता है ये सुना था मैने
    पर अपनी तड़प से कही ना कही
    सता रहा था मैं उसे।

    ©_kirti