• poet_without_a_poem 5w

    कुछ सपनो को तोड़ दिया है मैने

    और झूठी शान लिए फिरता हूँ

     

     कुछ कहना है,पर सबको लगता है मैं

    कहानियाँ कुछ बेकार लिए फिरता हूँ