• kavish_kumar 3w

    सब के सब आवारा फिरते हैं अब

    जिस जिस शौक़ को मैंने पाला था

    -Kavish