• aashiii 14w

    आँच जो भी कभी आती थी खुद पर
    डट कर खड़ी रहती वो
    छिपाए बच्चे को आँचल में अपने
    इस बेरहम दुनिया के तानो से बचाकर,
    आज जो मुसीबत आती है उस पर
    खड़ा रहता है बच्चा आगे उसके
    सबके सवालों का जवाब लेेकर,
    दुनिया भले उसे भद्दे नामों से पुकारे
    पर खिल जाती है दुनिया उसकी
    मिठास से भरा शब्द 'माँ' सुनकर।

    ©aashiii