• subita 15w

    Instagram: subita_says

    Read More

    पैमाना-ए-वक़्त ना बाँध सके,
    वो प्यार चाहिए

    ख़िज़्ज़ा में गुलज़ार ला सके,
    वो बाहार चाहिए

    कश्मकश-ए-दिल की सुलझा सके,
    वो क़रार चाहिए

    शायर-ए-फ़ितरत पहचान सके,
    वो यार चाहिए

    ©subita