• iamyadav 6w

    की कुछ करना है तो अपनी आवाज उठाओ,
    यू मोमबत्तियों से कब तक जख्मों को भरते फिरोगे ।


    की कुछ करना है तो बेटों को काबिल बनाओ,
    यू बेटियों पर कब तक इल्जाम धरते फिरोगे ।
    की कुछ करना है तो बेटों को सम्मान सिखाओ,
    यू बेटियों को कब तक नीलम करते फिरोगे ।
    की कुछ करना है तो नेताओं को सिक्छित बनाओ,
    यू बेटियों पर कब तक अत्याचार करते फिरोगे ।
    की कुछ करना है तो एक नया सरकार बनाओ,
    यू बेटियों को कब तक संभाल कर चलने कहोगे ।
    की कुछ करना है तो एक नया हिंदुस्तान बनाओ,
    यू बेटीयों को कब तक तड़प कर जीते देखोगे ।


    की कुछ करना है तो अपनी आवाज उठाओ,
    यू मोमबत्तियों से कब तक जख्मों को भरते फिरोगे ।

    ©iamyadav