• rangkarmi_anuj 7w

    व्यंग्य ३५

    Read More

    "मरते"

    अगर खून देना है तो "मरते" हुए किसी इंसान को दो उसकी तुम्हें दुआ भी लगेगी

    लेकिन

    ये आशिक़ी के नाम पर खून बहाने से तुम्हें कोई लैला मजनू की उपाधि नहीं मिलेगी

    ©anuj_artist